प्रगति के पथ पर निरन्तर अग्रसर

एवं

बच्चों के सम्पूर्ण विकास तथा उनके उज्जवल भविष्य के लिए सतत प्रयत्नशील… 

 ***** सभी प्राथमिक सुविधाओं से युक्त एवं झारखण्ड अधिविद्य परिषद् द्वारा स्थायी प्रस्वीकृति प्राप्त *****

 
















 

विद्यालय का संक्षिप्त परिचय


कृष्ण मुरारी पाण्डेय स्मारक हरिजन आदिवासी विकास उच्च विद्यालय मुरहुल सुदी हमारे भारतवर्ष के झारखण्ड राज्य के बोकारो जिला के कसमार प्रखंड के मुरहुल सुदी पंचायत में स्थित है ∣ इस पंचायत में एक- दो गावों को छोड़कर बाकि गांव अति पिछड़े हुए हैं, जहाँ के लोग शिक्षा के महत्व को नहीं समझ पाते हैं ∣ इसलिए वे अपने बच्चों की पढाई के प्रति बिलकुल गंभीर नहीं हैं ∣ इसको ध्यान में रखते हुए इलाके के गणमान्य व्यक्तियों द्वारा इस विद्यालय की स्थापना  सन 1987  की गई  जो अभी कसमार प्रखंड का एकमात्र स्थायी प्रस्वीकृति प्राप्त उच्च विद्यालय है ∣ यह  विद्यालय  समाज के  सुविधाहीन, शिक्षा से वंचित एवं कमजोर वर्गों को उनकी दहलीज पर शिक्षा उपलब्ध कराता है ∣ यह विद्यालय वंचित समूहों ( अनुसूचित जातियों, अनुसूचित जनजातियों, विकलांगों, एवं महिलाओं ) को नामांकित करने पर विशेष जोर देता है तथा उनलोगों के लिए निःशुल्क शिक्षा प्रदान करता है। यह विद्यालय सभी प्राथमिक सुविधाओं से युक्त है तथा इसकी मुलभुत सुविधाएं एवं मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित है :

•      पुस्तकालय, वाचनालय एवं कम्यूटर शिक्षा की  विशेष सुविधा

•      आधुनिक पद्धति एवं तकनीक द्वारा शिक्षा प्रदान

•      विषयवार अनुभवी शिक्षकों की व्यवस्था

•      बच्चों के खेल -कूद  के लिए मैदान एवं सभी उचित व्यवस्था

•      ऑनलाइन स्मार्ट क्लासेज की अतिरिक्त  व्यवस्था

•      वार्षिक वनभोज एवं  शैक्षणिक भ्रमण की व्यवस्था

•      बच्चों के  मानसिक, बौद्धिक एवं व्यक्तित्व का विकास

•      व्यावहारिक खेती एवं  व्यावसायिक शिक्षा की अतिरिक्त व्यवस्था

इस विद्यालय का उद्देश्य छात्रों एवं छात्राओं का शैक्षणिक, मानसिक ,शारीरिक, सांस्कृतिक और नैतिक विकास करना तथा उनके व्यक्तित्व को बहुआयामी बनाना है ∣ छात्रों को संकीर्ण विचारधारा एवं राष्ट्रीय सीमा परिधि से उठाकर सम्पूर्ण विश्व का बनाने के लिए प्रेरित करना है∣ चूँकि, ये अत्यंत पिछड़ा एवं हरिजन आदिवासी बहुल क्षेत्र है, इसलिए, यहाँ के शिक्षक- शिक्षिकाएं  अतिरिक्त मेहनत  करके बच्चों के माता पिता एवं अभिभावको को भी शिक्षा का महत्व समझाते है ताकि वे बच्चों को शिक्षित करने में रूचि दिखाएँ ∣

हमारा दृष्टिकोण 

हमारा दृष्टिकोण  इस विद्यालय को राज्य के सबसे प्रभावी विद्यालयों  में से एक बनाने की है जो न केवल छात्रों की उच्च स्तर की उपलब्धि पैदा करता है बल्कि उन्हें जीवन की हर चुनौतियों से निपटने के लिए प्रशिक्षित भी करता है।

हमारा लक्ष्य 

हमारा लक्ष्य  छात्रों को उच्च क्षमता के विचार कौशल और नेतृत्व गुणों को विकसित करने में मदद करना है। 

विद्यालय परिसर 


 विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष   का संदेश

प्रिय विद्यार्थियों एवं अभिभावकों,

             मुझे यह जानकर अत्यंत प्रसन्नता हो रही है कि कृष्ण मुरारी पाण्डेय स्मारक हरिजन आदिवासी विकास उच्च विद्यालय मुरहुल सुदी के वेबसाइट में  विधालय से संबधित सभी जानकारी दी गई है तथा  यह सभी अध्यनरत विद्यार्थियों अथवा अध्ययन करने के इच्क्षुक विद्यार्थियों के लिए मार्गदर्शी होगा ∣ सभी शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं  का  प्रयास यह होना चाहिए कि  विधालय  के  सभी विद्यार्थियों को आधुनिक ज्ञान के साथ साथ भारतीय ज्ञान परंपरा से परिचित करवाये ∣ उन्हें यह भी सलाह दी जाती है कि विधालय के विधार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए क्रिया कलापों द्वारा समाज सेवा और जीवन मूल्यों की  विशेष शिक्षा प्रदान करे ∣ 

             विद्यालय परिवार  एवं सभी  अभिभावकों को  मेरी हार्दिक  शुभकामनाएँ ∣

                                                                                                                                                                           डॉ.  लम्बोदर महतो 

  अध्यक्ष  



 विद्यालय प्रबंध समिति के सचिव  का संदेश

प्रिय विद्यार्थियों एवं अभिभावकों,

           कृष्ण मुरारी पाण्डेय स्मारक हरिजन आदिवासी विकास उच्च विद्यालय मुरहुल सुदी के निर्माण में इलाके के हर गाँवों की अहम् भूमिका रही है। आज इस  विद्यालय को  झारखण्ड सरकार द्वारा  सिर्फ मान्यता प्राप्त ही नहीं  अपितु  इसे स्थायी प्रस्वकृति प्राप्त है। यह विद्यालय सभी तरह की प्राथमिक सुविद्याओं से युक्त है। शिक्षा किसी भी बड़ी पारिवारिक, सामाजिक और यहाँ तक कि राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय समस्याओं को भी हल  करने की क्षमता प्रदान करती है। हम से कोई भी जीवन के हरेक पहलू में शिक्षा के महत्व को अनदेखा नहीं कर सकता। यह जीवन के हर पहलू को समझने के लिए सूझ-बूझ को विकसित करती है। विद्या एक ऐसा धन है जिसे ना तो कोई चुरा सकता है और नाही कोई छीन सकता। यह एक मात्र ऐसा धन है जो बाँटने पर कम नहीं होता, बल्कि इसके विपरीत बढ़ता ही जाता है।यह हमेशा जीवन  में बेहतर संभावनाओं को प्राप्त करने के अवसरों के लिए विभिन्न दरवाजे खोलती है। अतः स्वस्थ  एवं मजबूत समाज  के निर्माण हेतु इलाके के प्रत्येक बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करना एवं सबों को जागरूक बनाना हमसबों का कर्त्तव्य है।

   आइये हम सभी एक जुट  होकर इलाके के छात्रों /छात्राओं  को उत्तम कोटि की शिक्षा मुहैया करायें  तथा उनके भविष्य को उज्जवल बनायें। इस उद्देश्य हेतु मैं आपसबों के सहयोग एवं सुझाव का हमेशा स्वागत करती हूँ।

                                                                                                                                                                            रेखा महतो 

                                                   सचिव 



 विद्यालय प्रबंध समिति के शिक्षाविद  का संदेश

प्रिय विद्यार्थियों एवं अभिभावकों,

            दृढ़ एवं विकसित राष्ट्र के निर्माण हेतु जनता का शिक्षित होना अति आवश्यक है। शिक्षा से न केवल दायित्वों एवं अधिकारों का बोध होता है , बल्कि हम सभी अपने जीवन को  सफल  बनाने में  कामयाब होते है। इस विद्यालय की संकल्पना ग्रामीण क्षेत्रों में ज्ञान का सृजन एवं समर्थ युवा पीढ़ी के निर्माण के रूप में की जाती है। यहाँ की शैक्षिक प्रक्रिया में नई  तकनीकों, कल्पनाशीलता एवं अनुभवपरख सीख के के साथ -साथ सामाजिक जीवन से जुड़ने को भी महत्व दिया जा रहा है।

         यह विद्यालय समाज के वंचित, पिछड़ा और कमजोर वर्गों को उनकी क्षमता के अनुसार बेहतर शिक्षा प्रदान करता है। मेरा दृढ़ विश्वास है कि यह विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में निरंतर सफलता का मार्ग प्रशस्त करता रहेगा तथा सदैव गंगा की भांति ज्ञानपिपासुओं  की तृषा को शांत करता रहेगा। । हमारा प्रत्येक विधार्थी इस विश्व में अपने ज्ञान प्रकाश से संस्कारित एवं सुशिक्षित समाज से युक्त विकसित राष्ट्र के निर्माण में अमूल्य योगदान देगा

           आशा है कि इस क्षेत्र का प्रत्येक विद्यार्थी  स्कूल की आसान और सरल शिक्षण पद्धति का पालन करके अपने ज्ञान और कौशल को बढ़ाएंगे। मैं सभी विद्यार्थियों के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ

                                                 डॉ. विकास महतो

                                                    शिक्षाविद 


  हमारी फोटो गैलरी


अध्ययन पद्धति

इस विधालय में शिक्षण पद्धति प्रारंभिक विधालयों द्वारा अपनाई जा रही अध्ययन पद्धति से भिन्न है यहाँ की शिक्षण पद्धति में निम्नलिखित तत्व सम्मिलित हैं:

Student sites

Parent sites

School forms